हमारे देश में सहारा एक ऐसी निवेश कंपनी है जिसमे सभी भारत के नागरिक निवेश करते है तोह आपको बता दे की।लंबे इंतजार के बाद सहारा इंडिया में निवेशकों को लेकर बड़ी खुशखबरी निकल के आ रही है लगातार 5से 6 वर्षों से निवेशक परेशान है क्यों उनका पैसा कब मिलेगा इंतजार की घड़ियां समाप्त हो चुकी है।Sahara Money Refund

क्योंकि उनका भुगतान का तारीख अब लगभग तय हो गया है अगर आप का भी पैसा सहारा इंडिया में फंसा हुआ है तो यह खबर आप सभी के लिए जरूरी है अंत तक जरूर पढ़ें ताकि आप सबको इसके बारे में पता चल सके की आप सब इसका पैसा कैसे पा सकेंगे ।Sahara Money Refund

तो दोस्तों आपको बता दे की बोर्ड (सेबी) ने एक दशक के दौरान सहारा की दो कंपनियों के निवेशकों को 138 करोड़ रुपये का रिफंड किया है. पुनर्भुगतान के लिए विशेष रूप से खोले गए बैंक खातों में जमा राशि बढ़कर 24,000 करोड़ रुपये से अधिक हो चुकी है.सेबी ने अपनी हालिया वार्षिक रिपोर्ट पर में यह जानकारी दिया है .Sahara Money Refund

सेबी ने वार्षिक रिपोर्ट में कहा बेंगलुर कि उसे 31 मार्च, 2022 तक 19,650 कर्नाटक आवेदन प्राप्त हो चुकी है, जिसमें रिफंड के लाख क कुल 82.31 करोड़ रुपये के दावे योजना शामिल हुए थे. इसमें से उसने 17,526 जिंदल मामलों में 68 करोड़ रुपये के ब्याज निवेशक सहित 138 करोड़ रुपया का रिफंड जारी किया गया है। Sahara Money Refund

जैसा की आप सबको बता दे की सूत्रों से मिली खबर के अनुसार निवेशकों का भुगतान केवल जमा राशि में किया जाएगा लेकिन सारे निवेशक परेशान है और वह कह रहे हैं कि इतने दिन से पैसा को हम लोग सहारा इंडिया में निवेश किया है

तो हम लोग को ब्याज सहित मिलना चाहिए लेकिन मिली खबर के अनुसार यह बताया जा रहा है कि केवल निवेश पैसा ही निवेशकों को भुगतान किया जा सकेगा।Sahara Money Refund

आपको बता दे की निवेशकों के रकम वापसी में जिला प्रशासन की लापरवाही भी सामने आई है। सहारा के चार डायरेक्टर्स को जब गिरफ्तार किया गया, तब उन्होंने कोर्ट में 15 करोड़ रुपए वापस देने की बात कही जा रही थी। इसी शर्त पर उन्हें कोर्ट से जमानत दी गई थी।

तब डायरेक्टर्स ने जिला प्रशासन को 10 करोड़ का चेक दिया था। लेकिन प्रशासन ने चेक को लंबे समय बाद क्लीयरेंस के लिए नही लगाया। जिससे 10 करोड़ का चेक बाउंस चूका है।Sahara Money Refund

आपको बता दे की यह देखा जा रहा है कि अलग-अलग चरणों के माध्यम से सहारा निवेशकों का भुगतान अलग-अलग राज्य में किया जा रहा है इसके लिए निवेशक अपने नजदीकी जिला पदाधिकारी की सहायता की मदद से 1000000 से नीचे तक पैसा निकाल चुके हैं यह देखा जा रहा है कि ज्यादातर पैसा बड़े लोगों को निकाला जा रहा है।

जैसे डॉक्टर कोई अधिकारी एवं अन्य लोगों को पैसा का भुगतान किया जा रहा है गरीब लोगों का भुगतान अभी तक एक का भी नहीं किया जा सका है सबसे बेहतर सबसे अच्छा माध्यम अपने नजदीकी डीएम जिला पदाधिकारी से मिलकर पैसे का भुगतान करवा सकगे अगर आपको यह लेख पसंद आया तोह अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना